आपको वनप्लस 6T क्यों नहीं खरीदना चाहिए

0
239

वनप्लस ने भारतीय बाज़ार में 2014 से लांच हुई जिसके बाद अपने बेहतरीन मोबाइल फ़ोन्स की वजह से भारतीय बाज़ार में अपनी अच्छी पकड़ भी बना ली। हाल ही में वनप्लस ने अपनी नयी वनप्लस 6T लॉन्च की है, पर सोचने वाली बात ये है की ये फ़ोन वनप्लस के पिछले फ़ोन से कितनी अलग है। वनप्लस की एक वर्शन अपने दूसरे वर्शन से कुछ ख़ास अलग नहीं होती ऐसे में उपभोगताओं के लिए इसके नए वर्शन को खरीदना नुक्सान भरा ही होता है।

फ़ोन के नाम में बदलाव के अलावा फ़ोन में कुछ ख़ास बदलाव नहीं किये जाते हैं। कुछ ऐसा ही आलम है वनप्लस 6 और वनप्लस 6T के बीच , अगर आपने अभी अभी वनप्लस 6 ली है पर सोच रहे हैं की आपको 6T लेनी चाहिए थी तो घबराइए मत दोनों ही फ़ोन में परफॉरमेंस क माले में कुछ ख़ास अंतर नहीं है। दोनों फ़ोन एक दूसरे से डिज़ाइन और साइज में अलग ज़रूर है लेकिन अगर इन फ़ोन्स में मौजूद कैमरा के बारे में बात करें तो दोनों ही फ़ोन के कैमरा आपको एक जैसी परफॉरमेंस ही देंगे। इन दोनों ही मॉडल में बैक कैमरा कॉन्फ़िगरेशन 16 MP और 20 MP की है, हलाकि 6T की डिस्प्ले बड़ी है लेकिन इसके अलावा और कोई ख़ास बदलाव इसमें नहीं किये गए हैं।

और पढ़ें : कैसे दे अपने बैडरूम को फाइव-स्टार होटल जैसा लुक ?

इन दोनों ही फ़ोन के प्रोसेसर में कोई बदलाव नहीं किये गए हैं यानी की पिछले फ़ोन की तरह ही इस फ़ोन में भी स्नैपड्रगन 845 प्रोसेसर मौजूद है। वनप्लस के दोनों ही फ़ोन एंड्राइड पाई में अपडेटेड है, और इनके स्पीड में भी कोई अंतर नहीं है। इन फ़ोन्स के बीच की समानता जितनी है इसमें लाए गए अंतर भी उपभोगताओं को निराश कर सकती है। 6T में हैडफ़ोन जैक को हटा दिया गया है जो ज़्यादातर लोगों को पसंद नहीं आने वाली है। हालांकि इसकी बैटरी वनप्लस 6 से ज़्यादा अच्छी बैटरी लाइफ देती है। लेकिन कुल मिला कर कहा जाए तो वनप्लस ने 6 के मुकाबले 6T में कोई ख़ास बदलाव नहीं किये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here