मोहम्मद अजहरुद्दीन नायक या खलनायक ?

0
26

 

भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद अजहरुद्दीन एक ऐसा नाम जो लोगों के बीच नायक भी है और खलनायक भी। क्रिकेट में उनकी एंट्री जितनी ही धमाकेदार थी एग्जिट उतनी ही शॉकिंग। क्रिकेटिंग करियर के दौरान कप्तानी हो फील्डिंग हो या बैटिंग उनके स्टाइल और खेल ने उन्हें नाम दिया। अजहरुद्दीन आज भी तीन टेस्ट मैच में लगातार शतक मारने वाले एकलौते खिलाड़ी हैं। तीन वर्ल्ड कप में भारत का नेतृत्व करने वाले एकमात्र भारतीय कप्तान। लेकिन सफलता की ये सीढ़ी 1999 के बाद उन्हें असफलता की ओर बढ़ाने लगी।

मैच फिक्सिंग के इलज़ाम ने उनके क्रिकेटिंग करियर को ख़त्म कर दिया और फैंस के बीच उन्हें नायक से खलनायक बना दिया। खेल की तरह ज़िन्दगी में भी कई उतार चढ़ाव आए। अजहरुद्दीन की ज़िन्दगी में कई महिलाएं आई, उन्होंने दो शादियां की। क्रिकेट से नाता छूटा तो उन्होंने राजनीती में कदम रखा और कांग्रेस के साथ जुड़ गए। 2011 उनके लिए दुःख भरा रहा सड़क हादसे में उन्होंने अपने 19 वर्षीय बेटे को खो दिया। पर 2012 में एक राहत की खबर आई जब आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट ने उनपर से बैन हटाया। क्या अज़हरुद्दीन भारत के सर्वश्रेष्ठ कप्तान थे ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here