उस आदमी से मिलें जो भाजपा और कांग्रेस के भाग्य को बदल देगा

0
731

क्रिश्चियन मिशेल जेम्स एक ब्रिटिश व्यापारी है, जो 3,600 करोड़ रुपये के अगस्टा वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर सौदे में कथित तौर पर मध्यस्थ था। कई सालों की कोशिश के बाद अब उसे भारत लाया जा चूका है, कहा जा सकता है की ये मोदी सरकार के लिए एक बड़ी जीत साबित हो सकती है। मिशेल को कथित तौर पर राजनेताओं , पत्रकारों और अधिकारियों को प्रभावित करने के लिए काम पर रखा गया था ।

इकोनॉमिक्स टाइम्स के एक रिपोर्ट केअनुसार क्रिश्चियन मिशेल जेम्स अगस्टा वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाले में एक सक्रीय नाम था । दरअसल साल 2010 में यू पी ए सरकार ने भारतीय वायु सेना के लिए 3,600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड एडब्ल्यू 101 हेलीकॉप्टर खरीदने के लिए अनुबंध पर हस्ताक्षर किए। जिसके बाद फिनमेक्कानिका ज्यूसेपे ओर्सी के चेयरमैन और अगुस्ता वेस्टलैंड के सीइओ ब्रूनो स्पैग्नोलिनी को आईएएफ सौदे को लॉक करने के लिए रिश्वत देने के चार्ज में गिरफ्तार किया गया। जिसके बाद यूपीए की सरकार ने सौदे को रद्द कर दिया, और इटैलियन कंपनी से ज़्यादा तर पैसे भी वापस ले लिए।

जिसके बाद फिनमेक्कानिका ज्यूसेपे ओर्सी के चेयरमैन और अगुस्ता वेस्टलैंड के सीइओ ब्रूनो स्पैग्नोलिनी को आईएएफ सौदे को लॉक करने के लिए रिश्वत देने के चार्ज में गिरफ्तार किया गया। जिसके बाद यूपीए की सरकार ने सौदे को रद्द कर दिया, और इटैलियन कंपनी से ज़्यादा तर पैसे भी वापस ले लिए। घोटाले में इन दो नामों के अलावा नाम आया मिशेल का जो उस वक़्त भारतीय रक्षा क्षेत्र में सक्रीय था। जिसके बाद हाल में ही मिशेल को दुबई से भारत लाया गया है और उसे दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया गया। मिशेल का भारत आना घोटाले के खुलासे के लिए बहुत ज़रूरी था इसके अलावा उनके भारत आने से इस घोटाले से जुड़े लोगों का खुलासा भी हो जाएगा।

मिशेल गाँधी परिवार के निष्ठावान है और हेलीकॉप्टर घोटाले में गाँधी परिवार का नाम सामने आ सकता है जो बीजेपी की सरकार के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इस वक़्त मिशेल का भारत में लाया जाना जहाँ बीजेपी के लिए एक राजनीतिक अवसर है कांग्रेस के लिए ये मुसीबत का सबब बन सकता है। एंडीटीवी के एक रिपोर्ट के अनुसार मिशेल के आने पर प्रधान मंत्री मोदी ने अपनी रैली में इस बात की ओर रुख करते हुए कहा है ” यूपिए के कार्यालय में देश में वीवीआईपी हेलीकाप्टर का घोटाला हुआ. हम सरकार में आने के बाद उस घोटाले की जांच में और उसमे से एक राज़दार हमारे हाथ लग पाया. आज अखबारों में पढ़ा होगा भारत सर्कार उस राज़दार को दुबई से ले आयी है. अब यह राज़दार राज़ खोलेगा तोह पता नहीं कितनी दूर तक जाएगी।”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here