जेआरडी टाटा : भारत के पहले लाइसेंस्ड पायलट

0
476

जेआरडी टाटा का जन्म 29 जुलाई 1904 को पेरिस , फ्रांस में हुआ था । उनका जन्म एक धनी परिवार में हुआ था, टाटा की दिलचस्पी बचपन सी ही हवाई जहाज़ में थी । अपने पसंदीदा विमान चालक लुइस ब्लेरिओट से मिलने के बाद उनकी यही दिलचसबी उनके जूनून में बदल गई । टाटा बचपन से ही बुद्धिमान विद्यार्थी थे, और उन्होंने अपनी पढ़ाई पेरिस में ही की । टाटा भारत अपने पिता के कहने पर साल 1925 में आए और टाटा एंड संस में अपरेंटिस की नौकरी की ।
हवाई जहाज़ उड़ाने का उनका सपना 1929 में पूरा हुआ और इसी के साथ वो भारत के पहले लिसेंससेड विमान चालक बने । जिसके बाद 1930 में उनकी शादी थेल्मा विकाजी से हुई, लेकिन दोनों को कोई बच्चे नहीं हुए । टाटा ने न सिर्फ हवाई जहाज़ को उड़ाया बल्कि साल 1932 में उन्होंने टाटा एयरलाइन्स की स्थापना की जो बाद में एयर इंडिया के नाम से जाना गया । जेआरडी टाटा 1938 में टाटा एंड संस के सबसे कम उम्र के चेयरमैन बने और कंपनी को नै ऊंचाइयों तक पहुँचाया ।
1945 में टाटा ने टाटा मोटर्स की स्थापना की जिसने लम्बे समय तक वाणिज्यि वाहन बाजार पर प्रभुत्व रखा । साल दर साल टाटा ने कम्पनी के साम्राज्य को बहुत बढ़ा दिया और टाटा टी लिमिटेड , टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस और टाइटन जैसी कंपनी की भी स्थापना की । 1992 में जेआरडी टाटा को भारत रत्न से सम्मानित किया गया । और गुर्दे में संक्रमण होने के कारण 1993 में उनकी मृत्यु हो गई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here