इलेक्ट्रॉनिक्स बच्चों का दुश्मन

0
39

आपके बच्चे की भाषा को समझने की क्षमता हो सकती है कम। जी हाँ अगर आपका बच्चा 9 से 10 साल का है और अपना ज़्यादातर वक़्त मोबाइल या वीडियो गेम के आगे बिता रहा है । तो सावधान हो जाइये नेशनल हेल्थ इंस्टिट्यूट के एक अध्ययन ले मुताबिक़। मोबाइल, वीडियो गेम जैसे यंत्रों के सामने ज़्यादा समय बितान बच्चों के दिमाग के लिए हानिकारक है। अध्ययन के अनुसार बच्चों का 7 घंटे से ज़्यादा। इन यंत्रों का इस्तेमाल करना उनके दिमाग में मौजूद कोर्टेक्स को पतला कर रही है। कोर्टेक्स मस्तिष्क में मौजूद एक बाहरी लेयर है। जो मस्तिष्क-संबंधी जानकारी देती है। समयपूर्व कोर्टेक्स का पतला होना नुकसान करता है ।

या नहीं इस पर बात साफ़ नहीं। लेकिन NIH के डाटा के अनुसार दो घंटे से ज़्यादा वीडियो गेम या मोबाइल के आगे बैठने से बच्चे की भाषा और तर्क परीक्षणों को समझने की क्षमता ख़राब हो रही है। क्या आपका बच्चा अपना ज़्यादातर समय वीडियो गेम और मोबाइल पर बिताता है ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here