एम्बुलेंस दादा जो बाइक पर लोगों की जान बचाते हैं

0
20

 

चाय बागान में काम करने वाले ये व्यक्ती अपनी बाइक के ज़रिये लोगों की जान बचाते हैं। पश्चिम बंगाल के रहने वाले करीमुल हक़ को लोग एम्बुलेंस दादा के नाम से भी जानते हैं। उनके इस प्रेरणादयाल कार्य और सेवाभाव को देखते हुए भारत सरकार ने उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया था। और अब इस साल उन्हें “आइकॉन ऑफ़ नार्थ बंगल 2019” से भी सम्मानित किया जाएगा जो दैनिक जागरण द्वारा आयोजित किया जाएगा। करीमुल की माँ मृत्यु समय पर इलाज न होने की वजह से हुई थी और इसी वजह से करीमुल ने बाइक पर एम्बुलेंस की शुरुआत की ताकि किसी और को इसका सामना न करना पड़े।

अब तक उन्होंने अपने आस पास के 20 गाओं में सेवा दी है और करीब 5000 लोगों को अपनी बाइक एम्बुलेंस पर मुफ्त अस्पताल पहुँचाया है। मौसम चाहे जैसा हो मुश्किलें चाहे कितनी हक़ ने लोगों की मदद के लिए अपने कदम कभी पीछे नहीं लिए। हक़ न सिर्फ एम्बुलेंस सर्विस देते हैं बल्कि ज़रूरतमंद लोगो की मदद भी करते हैं। और ये मदद पहुँचाने में उनका हाँथ कई संस्थाएं भी बंटाती है। करीमुल के इसी जज़बे पर राजश्री प्रोडक्शन ने भी फिल्म बनाने का फैसला लिया है। क्या अपने भी कभी किसी की जान बचाई है ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here