भारतीय उपमहाद्वीप में विलुप्त हो गए 5 जानवर

0
9375

भारत देश में ऐसे कई जानवर हैं जो की विलुप्त हो चुके हैं हमारे देश में लगभग 1200 प्रजातियां हैं जिसमें 410 प्रजातियां स्तनधारी है। जानवरों की प्रजातियों में ऐसे कई जानवर हैं जो दुनिया से विलुप्त हो चुके हैं और कई विलुप्त होने के कगार में हैं। इन जानवरों के विलुप्त होने या लुप्तप्राय होने की वजह बदलते मौसम, या शिकार इत्यादि वजह हो सकती है। ऐसे ही कुछ भारतीय उपमहाद्वीप में विलुप्त हो चुके जानवरों के बारे में हम बता रहे है :-

1. सिवाथेरियम : सिवाथेरियम भारतीय महाद्वीप में करीब आठ हज़ार पहले विलुप्त हो व्हुके जानवरों में से एक है। इस जानवर के बारे में गुफाओं के दीवारों पर बने इनके चित्रों से पता लगता है। सिवाथेरियम बहुत ज़्यादा शिकार करने की वजह से विलुप्त हो गए। ये जानवर काफी हद तक दिखने में कुछ अजूबे थे, इनको दो सिंघ थे जिसमें से एक इनके सर पर और दूसरा बिलकुल इनके आँखों के ऊपर थे। इनकी ऊंचाई लगभग 10 फ़ीट थी और ये वजन में करीब 500 किलो के थे इसके बावजूद ये सबसे तेज़ भागने वाले जानवर थे।

2. गुलाबी सर वाले बत्तख : इस खूबसूरत चिड़िया के पुरे शरीर का रंग वैसे तो कुछ कला भूरा था लेकिन इनके सर का रंग गुलाबी था और इसकी गर्दन भी काफी लम्बी थी। कुछ लोग ऐसा मानते हैं की इसकी कोई न कोई प्रजाति अब भी ज़िंदा है जिसकी वजह से इसकी खोज नज़ारी है लेकिन 70 सालों में इस चिड़िया के कोई नामों निशाँ सामने नहीं आए हैं, जिसकी वजह से इसे अब विलुप्त जाता है।

3. उत्तरी सुमात्रन गैंडा : गैंडों की प्रजाति के विलुप्त या लुप्तप्राय होने वजह ये है की लोग उनका शिकार उनके सिंघ के लिए करते हैं। उत्तरी सुमात्रन गैंडे उनकी बाकी की प्रजातियों से काफी अलग थी। ये अपने बाकी प्रजातियों से छोटे थे और इनके शरीर में कई बाल भी थे। भारत में इस प्रजाति के कोई नामों नहीं बचे हैं लेकिन करीब 200 प्रजाति हमारे पडोसी देश में पाए जाते हैं जिसकी वजह से ये अब लुप्तप्राय जानवरों में शामिल हो गए हैं।

और पढ़ें : चौंकानेवाला: जानिए कि मणिकर्णिका घाट में हिंदू मृतक क्यों जलाते हैं

4. जंगली बैल ( औरोक्स) : जंगली बैल करीब 4000 हज़ार साल पहले भारत से विलुप्त हो गए थे। इन बैलों का इस्तेमाल घरेलू काम काज के लिए भी होता था, और जिनका वज़न करीब 1000 किलो तक था। ये जानवर ज़्यादातर गर्म इलाकों में पाए जाते थे, और सबसे बड़ी प्रजाति थे। ये भारत के अलावा यूरोप और उत्तरी अफ्रीकी इलाकों में भी पाए जाते थे।

5. चीता : भारत से विलुप्त हो चूका भारतीय चीता अब ईरान के कुछ इलाकों में पाया जाता है। भारतीय चीता अत्यधिक शिकार और मंजुषों द्वारा वन को काटे जाने की वजह से विलुप्त हो चूका है। भारत में ये गुजरात और राजस्थान के में पाया जाता है। व्यस्क भारतीय चिताओं की पुंछ करीब 33 इंच तक की होती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here