जानिए भारत के लिव-इन गांव के बारे में

0
55

उड़ी बाबा लड़का लड़की साथ में रहते वो भी शादी से पहले नहीं नहीं हम फ्लैट सिर्फ फॅमिली को देता है। ऐसे लिव इन से संस्कृंति ख़राब हो जाएगा। आप में से बहुतो ने ऐसे डायलॉग सुने ही होंगे। क्युकी इंडिया में ये कॉमन है। लेकिन अब जो बताउंगी वो इतना कॉमन नहीं है। झारखंड़ के एक गांव में है शादी से पहले लिव इन में रहने की परंपरा है। आपको क्या लगता था ऐसा बस शहरों में होता है !दरअसल चरकटनगर गांव में कुछ ट्राइब ऐसे है जहा नाड़ी शादी से पहले अपने पसंदिता नर के साथ अपनी फॅमिली शुरू कर सकती है। लेकिन उन्हें पत्नी कहलाने का अधिकार शादी के बाद ही मिलता है। इससे पहले वह धुकनी कहलाती है।वैसे तो ये कांसेप्ट काफी कुल सा है लेकिन यहाँ लोग आर्थिक व्यवस्था कमज़ोर होने के वजह से ऐसा करते है। भैया लॉजिक भी सही है भारतीय शादी में मेहमानो को खिलाने पिलाने में बहुत पैसे खर्च होते है। सालो तक बाल ब्रह्मचारी रहने से अच्छा जब पैसे आए तब शादी कर लो वैसे आपके हिसाब से शादी से पहले लिव इन में रहना सही है या गलत।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here