जल्द आ सकता रोशनी से काम करने वाला पेसमेकर

0
1474

जल्द आ सकता है रौशनी से काम करने वाला पेस मेकर भविष्य में प्रकाश से संचालित होने वाला पेसमेकर बनकर हमारे सामने आ सकता है। वैज्ञानिकों ने एक ऐसा सोलर सेल बनाया है जो दिल की धड़कन को प्रोत्साहित करने में सक्षम है। उम्मीद करते है ये प्रयोग सफल रहे। आपको बतादे पेसमेकर एक चिकित्सा उपकरण है। जो दिल की धड़कन को नियंत्रित रखने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह बैटरी की मदद से काम करता है।

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के वैज्ञानिकों ने सिलिकॉन का एक जाल बनाया है। इस जाल पर प्रकाश पड़ते ही इलेक्ट्रोकेमिकल प्रभाव पैदा होते है। यह इलेक्ट्रोकेमिकल प्रभाव दिल को धड़कने में मदद करता है। पहले वैज्ञानिकों ने न्यूरॉन्स को गति देने के लिए इस तरह का उपकरण बनाया था। बाद में उन्होंने इसकी मदद से इतना पतला जला बनाया जिसे आसानी से हृदय के चारों ओर लपेटा जा सके। इसके चारों ओर नैनो वायर लगाए गए, जो दिल की कोशिकाओं से छूते हैं।

वैज्ञानिकों के अनुसार जैसे ही इस जाल पर लेजर के जरिये रौशनी छोड़ी जाती है, वैसे ही कोशिकाएं सक्रिय हो जाती हैं। इससे हृदय धड़कता है। वर्तमान पेसमेकर से तरह यह उपकरण दिल की मांसपेशियों को धड़कने के लिए प्रेरित करता है। कुछ पल लगते हैं लेकिन एक बार प्रकाश पड़ने के बाद मांसपेशियां कुछ देर तक धड़कती रहती हैं।

बता दे की अभी यह तकनीक बेहद शुरुआती स्तर पर है। प्रयोग सफल रहने पर इसे सीधे दिल के खास हिस्से पर लगाया जा सकता है।खास बात ये है की इसके लिए किसी बड़े ऑपरेशन से नहीं गुज़रना हगा। इसे ऊर्जा देने के लिए बेहद छोटा ऑपरेशन करके ऑप्टिकल फाइबर लगाना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here